ATM Cash Withdrawal Tips एटीएम से नहीं निकले पैसे, बैंक अकाउंट से भी कट गए पैसे, फटाफट करे ये काम, वापस मिलेगा पूरा पैसा

ATM Cash Withdrawal Tips: एटीएम से पैसे कट जाने पर क्या करें ?, एटीएम से पैसा कट जाए लेकिन रिसीव न हो तो क्या होता है?, आज के डिजिटल युग मे लोग अपनी जेब मे बहुत कम नगदी रखते है । क्योंकि आजकल लोगों के पास एटीएम कार्ड होता है जरूरत पड़ने जब चाहे कहीं भी पैसे निकाल सकते है । एटीएम से तुरंत पैसे निकालना जितना आसान है उतना ही इसका उपयोग करना कभी-कभी मुश्किल हो सकता है । जब आप एटीएम से पैसे निकलते है उस टाइम अगर किसी समस्या के कारण आपका पैसा नहीं निकलता और बैंक खाते से भी कट जाता है । तब ज्यादा मुश्किल हो जाता है ।

ATM Cash Withdrawal Tips
ATM Cash Withdrawal Tips

एटीएम से पैसे कटने पर क्या करें ?, एटीएम मे जब आप सारी डिटेल्स सही सही डाल देते है और उसके बाद भी आपका पैसा नहीं निकलता और बैंक खाते से पैसा भी कट जाता है । तो ये एटीएम मशीन की टेक्निकल प्रॉब्लेम होती है । जब मशीन मे नगदी खत्म हो जाती है या आपके लेनदेन को अस्वीकार कर देता है । तो आपको एक एसएमएस प्राप्त होता है आपके बैंक अकाउंट से राशि काट ली गई है । ये स्थितियाँ ग्राहक को सबसे बड़ी परेशानी मे डाल देती है । आज इस आर्टिकल मे हम जानेंगे कि एटीएम से पैसे निकलते वक्त पैसे कट गए और निकले भी नहीं तो क्या करे ?

ATM Cash Withdrawal Tips

कई बार एटीएम मे टेक्निकल प्रॉब्लेम के कारण पैसा नहीं निकलता है । या एटीएम आपके ट्रांजेक्शन को स्वीकार नहीं करता है, फिर भी आपके पास एक एसएमएस आता है कि आपके बैंक खाते से राशि काट ली गई है । ये एक गंभीर समस्या है और ज्यादा दुख तब होता है जब निकली गई रकम ज्यादा हो । वैसे आपको बता दे अगर पैसे कट गए है तो यह आपके खाते मे खुद ही वापस जमा हो जाते है । लेकिन आजकल साइबर ठगी के मामले बढ़ रहे है । ठग एटीएम मशीन मे छेड़छाड़ करके आपके कार्ड का क्लोन बना सकते है और बाद मे आपके खाते से पैसा निकाल सकते है ।

Read Also: SBI Bank Account Open Online बिना बैंक जाएं घर बैठे सिर्फ 5 मिनट खोले ज़ीरो बैलेंस एसबीआई बैंक खाता। ये रहे सबसे आसान तरीके

क्यों होती है ऐसी स्थिति

इसके लिए आम तौर पर तीन मुख्य कारक जिम्मेदार हैं:

तकनीकी: एटीएम ख़राब हो सकता है. आमतौर पर, सामान्य प्रक्रिया के एक भाग के रूप में, बैंक नियमित अंतराल पर अपनी मशीनों की जाँच करते हैं। तकनीकी कारणों से प्राप्त होने वाली सभी शिकायतों का शीघ्र ही समाधान कर दिया जाता है। तो आपका पैसा आपके खाते में स्वत: जमा हो जाना चाहिए और बैंक द्वारा आपको इसकी सूचना दी जाएगी

लॉजिस्टिक: एटीएम में नकदी खत्म हो सकती है, ऐसी स्थिति में आपको इसकी स्क्रीन पर एक संदेश दिखाई देगा। यदि ऐसा है, तो काटी गई कोई भी राशि लगभग तुरंत ही वापस कर दी जाती है। हालाँकि, RBI ने एटीएम कैश-आउट की बढ़ती घटनाओं पर ध्यान दिया है। 1 अक्टूबर, 2021 से, शीर्ष बैंक ने फैसला सुनाया है कि प्रति माह 10 घंटे से अधिक समय तक किसी भी स्थान पर कैश आउट होने की स्थिति में जिम्मेदार ऑपरेटिंग नेटवर्क पर प्रति एटीएम 10,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा।

Read Also: Senior Citizen अब होंगे मालामाल, निवेश पर एक मुश्त मिल रहा इतना ब्याज, जानें डिटेल

धोखाधड़ी: अपना कार्ड डालने से पहले स्लॉट की जांच करना बुद्धिमानी है। ऐसे मामले सामने आए हैं जहां स्लॉट में एक स्कीमर डाला गया था, जो चुंबकीय पट्टी से आपके सभी डेटा को पढ़ सकता था। चुराई गई जानकारी का उपयोग आपके कार्ड को ‘क्लोन’ करने के लिए किया जा सकता है और आपके खाते से पैसे निकाले जा सकते हैं।

ATM Cash Withdrawal Tips ऐसी स्थिति मे क्या करे

ATM se Paise Cut Jane Par Kya Kare, स्वाभाविक रूप से, आपकी पहली प्रवृत्ति अपना पैसा जल्द से जल्द वापस पाने की है। आपकी लेनदेन पर्ची महत्वपूर्ण साक्ष्य होगी और इसलिए इसे संरक्षित किया जाना चाहिए। यहां छह चीजें हैं जो आप कर सकते हैं यदि आप कभी भी ऐसी स्थिति में हों।

कस्टमर केयर से संपर्क करें

ऐसी स्थिति में सबसे पहले बैंक के कस्टमर केयर से संपर्क करें। इसके लिए बैंक की 24 घंटे चलने वाली ग्राहक सेवा हेल्पलाइन पर कॉल करना होगा। ऐसा करने पर आपकी समस्या नोट कर ली जाएगी और आपके लेनदेन संदर्भ नंबर को रिकॉर्ड करने के बाद, कार्यकारी आपकी शिकायत दर्ज करेगा और आपको एक शिकायत ट्रैकिंग नंबर जारी करेगा। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के अनुसार, काटी गई कोई भी राशि शिकायत दर्ज होने के पांच कार्य दिवसों के भीतर ग्राहक के खाते में जमा की जानी चाहिए। अन्यथा, बैंक देरी पर प्रति दिन 100 रुपये का भुगतान करने के लिए पात्र है।

बैंक शाखा पर जाएं

यदि पहला चरण काम नहीं करता है, तो आपको हेल्पडेस्क पर शिकायत दर्ज करने के लिए निकटतम शाखा में जाना चाहिए। फिर से, आपको एक शिकायत ट्रैकिंग नंबर सौंपा जाएगा। सुचारू अनुवर्ती कार्रवाई के लिए आपको उस कार्यकारी का संपर्क नंबर भी नोट करना चाहिए जिसके साथ आपने काम किया है।

शाखा प्रबंधक से करें बात

यदि आपकी शिकायत का समाधान नहीं हुआ है, तो उस शाखा के प्रबंधक से बात करें जहां आपका खाता है। किसी वरिष्ठ व्यक्ति से संपर्क करना शिकायतों के त्वरित समाधान का एक तरीका है। आप बैंक की वेबसाइट पर भी जा सकते हैं और शिकायत कक्ष में शिकायत दर्ज कर सकते हैं, जो आम तौर पर सर्वोच्च प्राथमिकता वाली शिकायतों से निपटती है।

लोकपाल से संपर्क करें

यदि इनमें से कोई भी आपकी शिकायत का समाधान नहीं करता है, तो आपको मामला आरबीआई या बैंकिंग लोकपाल के पास उठाना चाहिए। ऐसी शिकायतें लिखित रूप में पोस्ट या ऑनलाइन माध्यम से प्रस्तुत की जा सकती हैं। हालाँकि, आपको यह कदम उठाने से पहले शिकायत पंजीकरण की तारीख से 30 दिनों तक इंतजार करना होगा।

राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग (एनसीडीआरसी)

उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम, 1986 के तहत स्थापित, एनसीडीआरसी ग्राहकों की शिकायतों के समाधान के लिए एक अर्ध-न्यायिक निकाय है। इसका एक प्रभावी ट्रैक रिकॉर्ड है और यह आपकी ओर से कदम उठाएगा।

कानूनी रास्ते

बहुत कम मामलों में इस तरह की कार्रवाई की आवश्यकता होती है। यदि आपके मामले में एक या दो महीने तक कोई प्रगति नहीं हुई है, तो आप अपनी ओर से कार्रवाई करने के लिए कानूनी परामर्शदाता को नियुक्त कर सकते हैं।

मुआवजे का भी है प्रावधान

किसी स्थिति में बैंक निर्धारित समय के भीतर आपके खाते से डेबिट की गई राशि को वापस नहीं करता है, तो मुआवजे का प्रावधान है. आरबीआई के नियमों के मुताबिक बैंक को शिकायत के 5 दिन के भीतर इसका समाधान करना होता है. अगर इस अवधि में बैंक ने समाधान नहीं किया तो इसके बाद 100 रु प्रति दिन के हिसाब से मुआवजा देना होता है. अगर आप फिर भी संतुष्ट न हों तो https://cms.rbi.org.in पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

Join WhatsApp GroupClick Here
Get Latest UpdateClick Here
WebsiteClick Here